Surat Diamond King Govind Kaka

Surat Diamond King Govind Kaka  सूरत (गुजरात) [भारत]: गोविंद ढोलकिया, श्री रामकृष्ण एक्सपोर्ट्स प्राइवेट लिमिटेड की सामुदायिक कल्याण शाखा, एसआरके नॉलेज फाउंडेशन (एसआरकेकेएफ) के संस्थापक-अध्यक्ष। हीरा उद्योग में वैश्विक अग्रणी लिमिटेड (एसआरके) ने घोषणा की है कि वे भारत भर में 750 शहीद सैनिकों और गुमनाम नायकों के घरों पर एक आवासीय सौर छत स्थापित करेंगे।

Surat Diamond King Govind Kaka

Surat Diamond King Govind Kaka 

सूरत के डायमंड टायकून के नाम से पहचाने जाने वाले गोविंदभाई धोलकिया… इन्हें लोग प्यार से गोविंद काका भी कहते हैं।

हुआ यूँ कि गोविंद काका को लीवर संबंधित बड़ी तकलीफ हो गई, जिसका इलाज सिर्फ लीवर प्रत्यारोपण से ही संभव था। लीवर प्रत्यारोपण का खर्च विदेशों में करीब दो करोड़ रुपये तक होता…. और यहीं भारत में ये काफी कम खर्च मैं हो सकता था, दूसरी बात भारतीय चिकित्सकों पर भरोसा। आपने देखा होगा कैसे छोटी छोटी बिमारियों के लिए बड़े बड़े लोग विदेश दौड़े जाते हैं।

गोविंदभाई के लिए दो करोड़ रुपये कोई बड़ी बात नहीं थी, उन्होंने लीवर ट्रांसप्लांट अपने देश में ही करवाने का फैसला लिया, स्वदेशी चिकित्सकों पर पूरा विश्वास करते हुए यहीं सर्जरी करवाई। विदेश में इसका खर्च दो करोड़ करीब होता, और यहाँ हमारे देश में तो काफी कम पैसे में काम हो गया।

बस यहीं से फिर गुजराती दिमाग काम में लग गया, यार ये जो दो करोड़ रुपये में से जो बच गया उसका क्या किया जाए?

गोविंदभाई ने सोचा कि इस बचे हुए पैसों से कोई भलाई का सकारात्मक कार्य कर दिया जाए, और ऐसा कार्य जो उन्हें आजीवन मदद हो जाए। काका के दिमाग में आया कि क्यों न हमारे देश के शहीद सैनिकों के लिए कुछ किया जाए, वे हमारे देश की हमारी रक्षा के लिए अपने प्राण न्योछावर कर देते हैं तो हमारी भी तो कुछ ड्यूटी बनती है उनके प्रति।

गोविंदभाई ने सोचा कि, शहीदों के परिवार को एक एक लाख रूपये भी दे दिए जाएं तो वो रूपये भी चार पाँच महीनों में खत्म हो जाएंगे। उन्होंने आईडिया लगाया कि वे इस बचे हुए पैसों से देश पर बलिदान हुए सैनिकों के घर पर सोलर प्लांट लगवा कर देंगे, सोलर प्लांट की बीस वर्ष तक की गारंटी वारंटी होती है तो परिवार को लंबे समय तक बिजली बिल से छुट्टी मिलेगी.

गोविन्द काका की घोषणा।

यह घोषणा स्वतंत्रता दिवस के एक कार्यक्रम में की गई। “आजादी का अमृत महोत्सव” अभियान के माध्यम से भारत की आजादी के 75 साल पूरे होने का जश्न मनाने की प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी की पहल के एक हिस्से के रूप में, हमें अपने गुमनाम नायकों से प्रेरणा लेने की जरूरत है जिन्होंने हमारी सुरक्षा और भलाई सुनिश्चित करने के लिए हमारे लिए बहुत बलिदान दिया है।

भारत के जिम्मेदार नागरिकों के रूप में, इस स्वतंत्रता दिवस को मनाने का इससे बेहतर कोई तरीका नहीं था कि हम गुमनाम नायकों को कुछ ऐसा प्रदान करें जो न केवल उन्हें जीवन भर लाभान्वित कर सके बल्कि आने वाली पीढ़ियों को भी वापस दे सके, इसलिए हम प्रदान करने का विचार लेकर आए। उनके घरों और परिवारों को मुफ्त सौर ऊर्जा”, गोविंदकाका ने कहा। 750 किलोवाट रूफटॉप सौर प्रणाली के साथ, निवासी रुपये बचाने में सक्षम होंगे। 25 वर्षों तक प्रति वर्ष 2,000 रु. यह पहल 3,000 से अधिक जिंदगियों को प्रभावित करेगी और सक्षम बनाएगी।

Govind Kaka ki Untold Story

उन्होंने एक फाऊंडेशन बनाई, जिसने देश के शहीद सैनिकों के नाम पता ढूँढ़ने का काम किया, कई परिवार एड्रेस फोन नंबर बदल जाने के कारण ट्रेस नहीं हो पाए, फिर भी सबसे पहले 750 शहीद सैनिकों की लिस्ट तैयार की गई।

जिसमें से गुजरात के करीब 150 शहीद सैनिकों के घर पर अबतक सोलर प्लांट इंस्टॉल हो चुके हैं और अब गुजरात के बाहर के शहीद सैनिकों के घरों पर सोलर पैनल इंस्टालेशन का कार्य शुरू कर दिया गया है।
गोविंदभाई का कहना है कि 3000 शहीद सैनिकों के परीवारों की सूची तैयार की गई है धीरे धीरे आगे बढ़ते जाएंगे।
 
दुधाला गांवकी हरित क्रांति। 
 
इस साल मार्च में, गोविंदकाका और एसआरकेकेएफ ने गुजरात के अमरेली जिले के दुधाला गांव को पूरे समुदाय में सौर पैनल स्थापित करके एक हरित गांव में बदलने की योजना की घोषणा की। 400 किलोवाट सौर छत सारणी गांव में 350 घरों और सार्वजनिक क्षेत्रों को बिजली देगी और, एक बार पूरा होने पर, एक फाउंडेशन द्वारा सौर पैनलों के साथ पूरा होने वाला पहला गांव होगा।
 
श्री रामकृष्ण एक्सपोर्ट्स (एसआरके) के बारे में
 छह दशकों से, श्री रामकृष्ण एक्सपोर्ट्स प्रा. लिमिटेड हीरों की दुनिया में परिष्कृत सादगी, पारदर्शिता और नैतिकता का प्रतीक रहा है। इसके पेशेवर आदर्शों ने उन्हें उद्योग मानकों और ग्राहक सेवा में हमेशा के लिए उच्चतम मानक स्थापित करने की इस यात्रा पर लॉन्च किया है। दुनिया में सबसे तकनीकी रूप से उन्नत हीरा-शिल्पी होने के नाते, SRK ने गुणवत्ता और पैमाने के मिश्रण की अपनी खोज को आगे बढ़ाने के लिए विज्ञान और प्रौद्योगिकी को अपनाया है।
 
SRK तेजी से बढ़ रहा है, और, जुलाई 2022 तक, यह फर्म पूरे समूह में 6,000 सदस्यों के साथ 1.8 बिलियन अमेरिकी डॉलर का परिवार संचालित उद्यम है। इसकी दो क्राफ्टिंग सुविधाएं हैं – सूरत में एसआरके एम्पायर और एसआरके हाउस – जो यूएसजीबीसी – प्लैटिनम प्रमाणित हरित इमारतें हैं। यह उद्योग में सबसे अधिक आज्ञाकारी कंपनी है और सबसे अधिक आईएसओ प्रमाणन रखती है।
 
श्री रामकृष्ण नॉलेज फाउंडेशन (एसआरकेकेएफ) के बारे में:
 
श्री रामकृष्ण नॉलेज फाउंडेशन (एसआरकेकेएफ) के बारे में: श्री रामकृष्ण नॉलेज फाउंडेशन (एसआरकेकेएफ) प्रभावी और सामाजिक रूप से जिम्मेदार व्यक्तियों और संगठनों को विकसित करके मानव जाति के लिए बेहतर भविष्य बनाने के लिए प्रतिबद्ध है। अपनी निरंतर और जिम्मेदार भागीदारी के साथ, यह समुदायों के लिए एक स्थायी भविष्य का एहसास करने के लिए अपने प्रयासों का विस्तार करता रहता है।
 
एसआरकेकेएफ गुणवत्तापूर्ण शिक्षा, स्वास्थ्य देखभाल और स्वच्छता, कौशल विकास, सामुदायिक विकास और स्थायी आजीविका के अवसरों के प्रसार पर जोर देकर बदलाव लाता है। सामाजिक उन्नति के ये पांच स्तंभ मानव विकास सूचकांक के प्रमुख संकेतकों का भी प्रतिनिधित्व करते हैं। इनके अलावा, एसआरकेकेएफ राष्ट्र की बड़ी जरूरतों के प्रति संवेदनशील है और प्राकृतिक संसाधनों के संरक्षण और आपदा राहत और पुनर्वास सहित अन्य परियोजनाओं का समर्थन करता है।
 

सार…

पैसे तो बहुत हे लोगो के पास अगर सच्चे मन से करना चाहे तो बहुत कुछ कर सकते हे।

गोविंदभाई धोलकिया जी को सादर प्रणाम।…
 

 READ MORE: most expensive water in the world | दुनिया का सबसे महंगा पानी.   

Leave a Comment

Kuwait City Ki Lifestyle Fashion jewelry most expensive water in the world junk food in hindi Nayi Shiksha Niti