chandrayaan

chandrayaan भारत के आलावा किन किन देशो ने चंद्र की सतह पर सॉफ्ट लेंडिग की हे पुरे विस्तार से जानिए।

chandrayaan
chandrayaan

chandrayaan 1

चंद्रयान 1 ने 312 दिन तक चाँद के चक्कर लगाए थे पहला मिशन था जिससे चाँद की सतह पर पानी के सबूत पाये थे।

खर्च लांच वजन
386 22 अक्टूबर 1380
करोड़ 2008 किलो

chandrayaan 2 का मकसद चाँद के दक्षिणी ध्रुव पर पहुंचना सॉफ्टवेर में गड़बड़ी की वजहसे लेंडर की हाई लेंडिग हो थी।

खर्च लांच वजन
978 22 जुलाई 3877
करोड़ 2019 किलो

chandrayaan 3 का मकसद भी चाँद के दक्षिणी ध्रुव तक पहुंचना हे और पानी खनिज की खोज करना हे और चाँद पर २३ अगस्त को शाम 6 :04 बजे पहुंच गया।

खर्च लांच वजन
615 14जुलाई 3903
करोड़ 2023 किलो

चीन

चांग ई -3 : चीन का पहला मून लेंडर था। जिसे चीन की अंतरिक्ष एजेंसी ने 1 दिसंबर 2013 को सफलता पूर्वक लांच किया था।

सोवियत संघ

लूना प्रोग्राम : 1959 और 1976 के बीच सोवियत संघ द्वारा चन्द्रमा पर भेजे गये रोबोट अंतरिक्ष यान मिशनों की एक शृंखल

लूना 2 : सितम्बर 1959      लूना 17 : नवेबर ,1970

लूना 7 : अक्टूबर 1965      लूना 18 : सितबर ,1971

लूना 8 : दिसंबर 1965      लूना 20 : फरवरी 1972

लूना 9 : जनवरी 1966      लूना 21 : जनवरी 1973

लूना 13 : दिसंबर ,1966   लूना 23 : अक्टूबर 1974

लूना 15 ; जुलाई ,1969    लूना 24: अगस्त , 1976

लूना 16 : सितम्बर ,1970

इजरायल

बेरेशिट : इजरायल का पहला चंद्र अभियान था। चन्द्रमा की सतह पर उतर ने की कोशिश में यह क्रेश हो गया था। यह दुनिया का पहला निजी चंद्र अभियान था 22 फरवरी ,2019 को इसे लांच किया गया था

अमेरिका

रेजर प्रोग्राम : 1964 में मानव रहित निशानों का उद्देश्य चंद्रमा की सतह की पहली क्लोज अप तस्वीरों को प्राप्त करना था.

लॉन्चिंग

रेंजर 7 :जुलाई ,1964

रेंजर 8 :फरवरी ,1965

रेंजर 9 : मार्च ,1965

सर्वेयर प्रोग्राम:  यह नासा का एक प्रोग्राम था जिसने जून 1966 से जनवरी 1968 तक चंद्रमा के सतह पर सात रोबोटिक अंतरिक्ष यान भेजें इसका प्राथमिक लक्ष्य चंद्रमा पर सॉफ्ट लैंडिंग करना था.

लॉन्चिंग

सर्वेयर 1 : जून ,1966 सर्वेयर 2 : सितम्बर ,1966

सर्वेयर 3 : अप्रेल ,1967 सर्वेयर 4 : जुलाई ,1967

सर्वेयर 5: सितम्बर ,1967 सर्वेयर 6: नवम्बर ,1967

सर्वेयर 7: जून 1968

अपोलो प्रोग्राम: इस प्रोग्राम के तहत नासा ने पहली
बार मानव को चंद्रमा की सतह पर उतरा था.

अपोलो प्रोग्राम: इस प्रोग्राम के तहत नासा ने पहलीबार मानव को चंद्रमा की सतह पर उतरा था.

अपोलो 11 : जुलाई,1969 अपोलो 12: नवबर ,1969

अपोलो 14 : फरवरी 1971 अपोलो 1: ऑगस्ट,1971

अपोलो 16 : अप्रेल ,1972 अपोलो 17 : दिसंबर ,1972

जुलाई 1969 –चाँद की सतह पर कदम रखने वाले नील आर्मस्ट्रांग पहले इंसान थे।

READ MORE: Special Forces of India

Leave a Comment

Kuwait City Ki Lifestyle Fashion jewelry most expensive water in the world junk food in hindi Nayi Shiksha Niti